ये हैं भारत के छह सबसे अमीर मंदिर - प्रणाम पर्यटन - पहले पढ़ें, फिर घूमें

a

Post Top Ad

रविवार, 17 मई 2020

ये हैं भारत के छह सबसे अमीर मंदिर

श्री तिरुमाला तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर
आन्ध्र प्रदेश के तिरुपति स्थित श्री तिरुमाला तिरुपति वेंकटेश्वर मंदिर को देश का सबसे अमीर मंदिर माना जाता रहा है| जिसकी वार्षिक आय 650 करोड़ थी अब वह दूसरे स्थान पार आ गया है|बताते हैं कि मंदिर का 3000 से अधिक किलोग्राम सोना विभिन्न बैंकों में फिक्स्ड डिपाजिट के रूप में रखा है , इसके साथ ही 1000 करोड़ रुपये जमा हैं| यही नहीं मंदिर ट्रस्ट हर साल तीन सौ करोंड रुपये नकद एवम तीन सौ पचास किलो सोना तथा पांच सौ किलो चांदी दान के रूप प्राप्त करती है|
पदनाभस्वामी मंदिर
हाल ही में केरल राज्य की राजधानी तिरुअनंतपुरम स्थित श्री स्वामी पदनाभस्वामी मंदिर के तहखानो से निकले खजानों से यह बात सिद्ध हो गई की यह मंदिर दुनिया का सबसे अमीर मंदिर है,जबकि मंदिर का एक तहखाना अभी खोला जाना बाकी है |अबतक मंदिर से लगभग एक लाख करोड़ की संपत्ति मिल चुकी है| जिसमे सोने का मुकुट,१७ किलो सोने के सिक्के ,१८ फुट लम्बा 2 .5 किलो वजन का एक हर ,सोने की रस्सियाँ हीरों जवाहरात से भारी बोरियां ,प्राचीन जेवरातों के टुकडे आदि शामिल हैं|
श्री साईं संस्थान शिरडी
महाराष्ट्र के अहमद नगर स्थित श्री साईं संस्थान शिरडीमंदिर भी देश के अमीर मंदिरों मे से एक है |जिसके पास लगभग बत्तीस करोड़ मूल्य के आभूषण है| वहीँ मंदिर के दस्तावेजों के मुताबिक मंदिर प्रसाशन द्वारा बत्तीस करोड़ की लगत से विभिन्न सामाजिक योजनायें चलाई जा रही हैं | मंदिर ट्रस्ट के पास 24.41 करोड़ मूल्य का सोना, 3.26 करोड़ की चांदी के साथ-साथ 6 . 12 करोड़ मूल्य के चांदी के सिक्के हैं|बताते हैं कि 1.288 करोड़ के सोनेकेसिक्के एवम 1.123 करोड़ कीमत के लाकेट हैं| कहा जाता हे कि मंदिर की वार्षिक आय 450 करोड है|
माता वैष्णव देवी
जम्मू कश्मीर स्थित माता वैष्णव देवी मंदिर में तिरुपति के बाद सबसे अधिक भक्त दर्शन करने जाते है| माता वैष्णव देवीमंदिर की वार्षिक आय पांच सौ करोड़ बताई जाती है|जिसका संचालन श्री माता वैष्णव देवी श्राईन बोर्ड करता है| कहते है कि माता वैष्णव देवी मंदिर की प्रति दिन की आय लगभग चार सौ पचास करोड़ की है| 
मुम्बई के बीच स्थित महाराष्ट्र का दूसरा सबसे आमिर मंदिर श्री सिद्धिविनायक मंदिर की वार्षिक आय 46 करोड़ है|जबकि 125 करोड़ रुपये का फिक्स डिपाजिट है| दान के लिए यह मंदिर सबसे प्रसिद्ध है |मंदिर को हर साल 10 -15 करोड़ रुपये प्राप्त होते हैं| श्री सिद्धिविनायक मंदिर का संचालन गणपति मंदिर ट्रस्ट करता है|मंदिर के दस्तावेजों के मुताबिक मार्च 2009 तक मंदिर के पास 140 करोड़ की संपत्ति थी |
श्री गुरुवायर स्वामी मंदिर
दक्षिण भारत का दूसरा सबसे प्रसिद्ध मंदिर है श्री गुरुवायर स्वामी मंदिर, केरल राज्य में स्थित श्री गुरुवायर स्वामी मंदिर भगवान श्री कृष्ण का मंदिर है |जिसका संचालन केरल देवस्वाम बोर्ड द्वारा गठित एक नौ सदस्यीय समिति करती है | मंदिर की वार्षिक आय 2.5 करोड़ के आसपास है | मंदिर के फिक्स डिपाजिट में लगभग 140 करोड़ जमा है |मंदिर की विशेषता यह है कि मंदिर के गर्भ गृह में आयोजित की जाने वाली पूजा की विशेष मांग है| बताते हैं की सुबह से शाम तक की जाने वाली पूजा की शुल्क पचास हजार है |जिसे उदयस्थामाना पूजा के नाम से जाना जाता है | इस पूजा के लिए सन 2049 तक की प्रतीक्षा सूची है |
प्रणाम न्यूज डेस्क

1 टिप्पणी:

  1. यह देखकर विश्वास और नढ़ जाता है कि हमारे यहाँ दानदाताओं की कमी नहीं है .....अच्छी जानकारी ..

    जवाब देंहटाएं

Post Bottom Ad

DdbfCubDgGi7BKGsMdi2aPk2rf_hNT4Y81ALlqPAsd6iYXCKOZAfj_qFGLoe2k1P.jpg