औरंगाबाद (महाराष्ट्र) रेल हादसा - प्रणाम पर्यटन - पहले पढ़ें, फिर घूमें

a

Post Top Ad

शुक्रवार, 8 मई 2020

औरंगाबाद (महाराष्ट्र) रेल हादसा

औरंगाबाद ,घटना स्थल का दृश्य 

औरंगाबाद में सोलह मजदूर मालगाड़ी से कटे, तीन गंभीर 
महाराष्ट्र एवं मध्य प्रदेश सरकार ने 5-5 लाख का मुआवजा देने की घोषणा 
विजय चौधरी ,औरंगाबाद (महाराष्ट्र)
पिछले 44 दिनों से लाक डाउन के चलते भुखमरी के शिकार हो रहे ( शहडोल ) मध्य प्रदेश के रहने वाले सोलह मजदूरों की शुक्रवार की अल सुबह माल गाड़ी से कटने के कारण मौत हो गई ,जब की तीन मजदूर गंभीर रूप से घायल हैं। जिनका स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है । पता हो कि लाक डाउन के चलते ये मजदूर रेलवे लाइन पर चलते हुए जालना से मनमाड होते हुए मध्यप्रदेश के शहडोल  अपने घर जा रहे थे,शाम हो जाने के कारण औरंगाबाद शहर से लगभग दस किलोमीटर पहले जालना बाईपास पर करमाड़ रेलवी स्टेशन के निकट ही रेलवे लाइन पर ही सो गए थे, उन्हें क्या पता था कि यह रात उनकी आखिरी रात होगी । मजदूरों के इस दल में 20  लोग शामिल थे ,जिनमें से 16 लोगों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई है,जबकि दो की हालत चिंताजनक बनी हुई है । उनमें से एक मजदूर ने बताया कि वे लोग जालना के एस आर जे स्टील कंपनी में काम करते हें ,लाक डाउन की वजह से उन्हें खाने-पीने की काफी दिक्कत हो रही थी ,जिसके चलते उन लोगों ने अपने घर जाने का मन बना लिया। गुरुवार की दोफहर ही वे लोग जालना से रेलवे ट्रैक पर चलते हुए औरंगाबाद होते हुए मनमाड के लिए निकले थे। थकान होने के चलते यहीं पर विश्राम के लिए रुके थे,तभी नींद में यह हादसा हो गया । 
-------------------------------------------------------------------------------------------
यह हादसा नहीं हत्या का मामला है : सांसद औरंगाबाद 
औरंगाबाद सांसद  इम्तियाज़ जलील
इस बीच औरंगाबाद के सांसद  इम्तियाज़ जलील ने प्रणाम पर्यटन से बात करते हुए कहा कि 'औरंगाबाद कि घटना  कोई एक्सीडेंट नहीं है ,यह तो सीधा -सीधा हत्या का मामला बनता है । जिसके लिए  रेल मंत्रालय ,प्रधान मंत्री कार्यालय  पर ह्त्या  का मामला दर्ज किया जाना चाहिए। उन्होने यह भी कहा कि इस घटना  के लिए  औरंगाबाद जिला प्रशासन भी पूरी तरह दोषी है । यह सब केंद्र एवं राज्य सरकार की लापरवाही का ही परिणाम है। हर रोज भूखे प्यासे लोग 15 से 20 किलोमीटर पैदल  चल रहे हें,सरकार के नुमाइंदों को दिखाई नहीं दे रहा क्या ? चिलचिलाती धूप में चल रहे हैं लोग,आप कल्पना कर के देखिये।
 ---------------------------------------------------------------------------------------------------------
वह मालगाड़ी ,जिससे हादसा हुआ। 
घटना स्थल पर लाश के चीथड़े  पड़े हुए हैं, रेलवे लाइन पर रोटियाँ बिखरी मिलीं हैं ,शायद रात में खाना  खाने के बाद उनके पास बच गईं थीं। मालगाड़ी के ड्राइवर के मुताबिक अल सुबह जब वह गाड़ी लेकर जा रहा था ,तभी उसने देखा कि करमाड़ स्टेशन के पास कुछ लोग पटरी पर सो रहे हैं , गाड़ी में गति थी, तब भी हमने बहुत कोशिश  की कि  मालगाड़ी को रोका जाए,पूरा ब्रेक भी लगाया लेकिन उसमे विफल रहा,तभी यह हादसा हो गया ।  घटना की खबर मिलते ही जिला प्रशासन एवं रेलवे के वरिष्ठ अधिकार घटना  स्थल पर पहुँच कर बचाव कार्य  में जुट गई । पता हो कि पिछले तीन चार दिनों से रेलवे ट्रैक के माध्यम से प्रवासी मजदूरों के पास काम न होने के कारण पलायन जारी है। इस बीच महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री उद्धव ठाकरे ने एवं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना  में मारे गए प्रत्येक मृतकों को पाँच-पाँच लाख की मुआवजा राशि देने की घोषणा कर दी है । उद्धव ठाकरे ने आज  ही यह भी कहा के 'हम प्रवासी मजदूरों को उनके गंतव्य तक भेजने  के लिए और अधिक गाड़ी चलाने का प्रयास कर रहें हैं  ताकि इस तरह के दुर्घटना की पुनरावृत न हो सके। 
औरंगाबाद-जालना रेल मार्ग 
उधर प्रधानमंत्री ने अपने एक ट्विट में घटना एवं मृतकों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हुए दुख जताया है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी दुख प्रकट किया है । वह स्वयम  इस हादसे पर सीधे जानकारी ले रहे हैं। इस घाटन को लेकर कांग्रेस एवं बहुजन पार्टी ने अपनी राजनीति भी शुरू कर दी है। 
औरंगाबाद के इस घटना में मारे गए एवं घायलों की सूची इस प्रकार है। 

मृतक :-
1) धनसिंग गोंड रा. अंतवळी जी. सहडोल, राज्य - मध्य प्रदेश.
2) निरवेश सिंग गोंड, अंतवळी जी. सहडोल, मध्य प्रदेश
3) बुद्धराज सिंग गोंड, रा. अंतवळी जी. सहडोल, मध्य प्रदेश
4) अच्छेलाल सिंग, चिल्हारी, मानपुर जी. उमरिया मध्य प्रदेश
5) रबेंन्द्र सिंग गोंड, रा. अंतवळी, जी. सहडोल, मध्य प्रदेश
6) सुरेश सिंग कौल, जी. सडोळ, मध्य प्रदेश
7) राजबोहरम पारस सिंग, रा. अंतवळी, जी. सहडोल, मध्य प्रदेश
8) धर्मेंद्रसिंग गोंड, रा. अंतवळी, जी. सहडोल, मध्य प्रदेश
9) बिगेंद्र सिंग चैनसिंग, रा. ममाज, तहसील पाळी, जी. उमरिया, मध्य प्रदेश
10) प्रदीप सिंग गोंड, रा. जमडी, तहसील पाळी, जी. उमरिया, मध्य प्रदेश
11) संतोष नापित,
12) ब्रिजेश भेयादीन रा. बहिरा इटोला, शहरगड चाटी, सहडोल.
13) मुनीमसिंग शिवरतन सिंग, रा. नेवासा, पोस्ट, बकेली तहसली पाळी, जी. उमरिया.
14) श्रीदयाल सिंग रा. अंतवळी जी. सहडोल, मध्य प्रदेश
15) नेमशाह सिंग चमदु सिंग, रा. नेवासा, पोस्ट बकेली, जी. उमरिया.
16) दिपक सिंग अशोक सिंग गौड रा. अंतवळी जी. सहडोल, मध्य प्रदेश
घायल:-  
1) सज्जनसिंग माखनसिंग धुर्वे रा पोंडी ता जुनावणी जिल्हा मंडल खजेरी
बच गए मजदूर:- 
1) इंद्रलाल कमलसिंग धुर्वे वय 20 वर्ष रा. पोवडी ता. घोगरी जिल्हा मांडला
2) वेरेंद्रसिंग चेंनसिंग गौर वय 27 वर्ष रा ममान ता पाली जिल्हा उमरिया
3) शिवमानसिंग हिरालाल गौर वय 27 वर्ष रा शाहारगड ता शाही जिल्हा सहडोल
मृतकों के फोटो 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad

DdbfCubDgGi7BKGsMdi2aPk2rf_hNT4Y81ALlqPAsd6iYXCKOZAfj_qFGLoe2k1P.jpg