शाम ढलते ही लाखों दीपों से रोशन हुई राम नगरी - प्रणाम पर्यटन - पहले पढ़ें, फिर घूमें

a

Post Top Ad

शनिवार, 14 नवंबर 2020

शाम ढलते ही लाखों दीपों से रोशन हुई राम नगरी

सरयू के आंचल में सिमटने के लिए 

उतार आए आसमां के सारे सितारे

प्रणाम पर्यटन ब्यूरो , अयोध्या

अयोध्या, शुक्रवार 13 नवंबर 2020 की तारीख एक बार फिर विश्व के इतिहास में दर्ज हो  गई  ,जब  सूरज ढलते ही सूर्यवंशी मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की नगरी अयोध्या में मानो आसमां के सारे सितारे पतित पावनी माँ सरयू के आंचल में सिमटने के लिए उतार आए।  राम नगरी में सरयू नदी के तट पर शुक्रवार को त्रेता युग जीवंत हो उठा. रामकथा पार्क में भगवान श्री राम, मां सीता और लक्ष्मण के स्वरूप हेलीकॉप्टर से उतरे. यूपी की गर्वनर आनंदीबेन पटेल के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्री राम, सीता और लक्ष्मण का स्वागत किया. इस दौरान उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या और मंत्री नीलकंठ तिवारी भी उपस्थित रहे. शाम ढलते ही 5.51 लाख से ज्यादा दीपों से राम की पैड़ी रोशन हो गई.

राम जन्मभूमि परिसर में 492 वर्षों के लंबे इंतजार के बाद दीपक जले

साथ ही 492 वर्षों के लंबे इंतजार के बाद वह अवसर भी आया जब राम जन्मभूमि परिसर में दीप जले. इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महामारी के दौरान भी श्रीराम मंदिर का निर्माण संभव कर दिया है. अयोध्या में राम मंदिर के सपने को पूरा करने के लिए हम उनके आभारी हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, ''कई पीढ़ियों से सभी के मन में एक ही तमन्ना थी कि हम भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण कार्य को अपनी आंखों से देख लेते, तो हमारा जन्म और जीवन धन्य हो जाता. वह कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कारण सफल हुआ है.''

अगले दीपोत्सव में 7.51 लाख दीयों से रौशन होगी अयोध्या: CM योगी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि  प्रदेशवासियों और सभी श्रद्धालु भक्तों की तरफ से वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अभिनंदन करते हैं. उनकी प्रेरणा से, उनके मार्गदर्शन से, उनकी रणनीति से पांच सदी का संकल्प पूरा होते हुए देश और दुनिया देख रही है. मुख्यमंत्री ने कहा, ''हमने न केवल राम की पैड़ी को अविरल और निर्मल बना दिया है, बल्कि उसका विस्तार भी किया है. इस साल 5.51 लाख दीपक जल रहे हैं, अगले वर्ष ये संख्यान 7.51 लाख पहुंचने वाली है.''

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब देश का नेतृत्व यशस्वी हाथों में होता है तो उस देश को दुनिया की ताकत बनने से कोई रोक नहीं सकता है, इसलिए भारत दुनिया के सामने अपनी ताकत का अहसास कराने में सफल है. जनता का विश्वास प्रधानमंत्री मोदी जी के साथ है. इससे पहले श्री राम, माता सीता और लक्ष्मण जी रथ पर सवार होकर रामकथा पार्क पहुंचे. रामकथा पार्क के मंच पर श्री राम का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्याभिषेक किया. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री व अन्य विशिष्ट जनों ने प्रभु राम, मां सीता और लक्ष्मण जी की आरती उतारी.

आखिकार रामभक्तों के 500 वर्षों का इंतजार समाप्त हुआ जब मुख्यमंत्री योगी ने राम जन्मभूमि परिसर में पहला दिया जलाया. इससे पहले अयोध्या में दिवाली तो मनती थी, लेकिन राम जन्मभूमि परिसर में नहीं. कारण था मंदिर-मस्जिद का विवाद. इस विवाद का निपटारा पिछले साल 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपने ऐतिहासिक निर्णय में किया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम की पैड़ी पर लाइट एंड साउंड शो का लुत्फ भी उठाया.

 आखिकार रामभक्तों के 500 वर्षों का इंतजार समाप्त हुआ जब मुख्यमंत्री योगी ने राम जन्मभूमि परिसर में पहला दिया जलाया. इससे पहले अयोध्या में दिवाली तो मनती थी, लेकिन राम जन्मभूमि परिसर में नहीं. कारण था मंदिर-मस्जिद का विवाद. इस विवाद का निपटारा पिछले साल 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपने ऐतिहासिक निर्णय में किया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम की पैड़ी पर लाइट एंड साउंड शो का लुत्फ भी उठाया.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad

DdbfCubDgGi7BKGsMdi2aPk2rf_hNT4Y81ALlqPAsd6iYXCKOZAfj_qFGLoe2k1P.jpg