उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा - - प्रणाम पर्यटन - पहले पढ़ें, फिर घूमें

a

Post Top Ad

शनिवार, 17 जुलाई 2021

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा -


"नोएडा हवाई अड्डा पर्यटन एवं निर्यात को बढ़ावा देगा"

(प्रणाम पर्यटन ब्यूरो )

लखनऊ, 17 जुलाई, 2021| नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के विकास की दिशा में आगे बढ़ते हुए,  लखनऊ में आज ज़्युरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के बीच एक शेयरधारक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए । नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के सीईओ श्री अरूणवीर सिंह तथा यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ श्री क्रिस्टोफ़ श्नैलमैन द्वारा समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। इस अवसर पर उत्तरप्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ; उत्तरप्रदेश सरकार के मुख्य सचिव श्री राजेन्द्र कुमार तिवारी तथा उत्तरप्रदेश सरकार के अपर मुख्य सचिव श्री एस.पी. गोयल भी मौजूद थे।

समझौते के मुताबिक, नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड  की, यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड में हिस्सेदारी होगी तथा बोर्ड के दो निदेशकों को नामांकित करने का अधिकार भी होगा। बोर्ड में शामिल निदेशक होंगे- डॉ अरूण वीर सिंह, सीईओ, तथा श्री विशाक अइयर, डायरेक्टर, सिविल एविएशन, उत्तरप्रदेश सरकार।

यह शेयरधारक समझौता, उत्तरप्रदेश और एनसीआर में बहु-प्रतीक्षित एविएशन इन्फ्रास्ट्रक्चर तथा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्रोजेक्ट के लिए एक और महत्वपूर्ण उपलब्धि है। संयुक्त रूप से प्रतिबद्ध ज़्युरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी और यूपी सरकार आगामी विश्वस्तरीय एयरपोर्ट के रूप में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का विकास कर रहे हैं। यह समझौता एयरपोर्ट की स्थापना, एयरपोर्ट के लिए सरफेस एक्सेस के सुधार, एयरपोर्ट संचालन के लिए आवश्यक सुविधाओं की स्थापना एवं विस्तार (जल, बिजली एवं व्यर्थजल), कानून एवं नियम व्यवस्था, एयरपोर्ट पर निगरानी तथा एयरपोर्ट के निर्माण एवं संचालन हेतु ज़रूरी अनुमोदनों के लिए राज्य सरकार के सहयोग की पुष्टि करता है।

इस अवसर पर श्री योगी आदित्यनाथ, माननीय मुख्यमंत्री, उत्तरप्रदेष सरकार ने कहा, ‘‘शेयरधारक समझौते पर हस्ताक्षर, राज्य की प्रगति की दिशा में अगला कदम है। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, भारत में एक आधुनिक एवं विश्वस्तरीय एयरपोर्ट का बेंचमार्क होगा। यह ओद्यौगिक बुनियादी ढांचे के विकास, पर्यटन एवं निर्यात को बढ़ावा देगा, हवाई यातायात को सुगम बनाएगा तथा राज्य में नौकरियों के अवसर उत्पन्न करेगा। यह एयरपोर्ट उत्तरप्रदेश में बहु-आयामी विकास को प्रोत्साहित कर आर्थिक विकास का मार्ग प्रशस्त करेगा।’’

श्री अरूणवीर सिंह, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, छप्।स् ने कहा, ‘‘ज़्युरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी के साथ शेयरधारक समझौता, उत्तरप्रदेश में विश्वस्तरीय एयरपोर्ट के निर्माण की दिशा में एक और उल्लेखनीय कदम है। हम सभी उत्सुकता के साथ एयरपोर्ट का निर्माण कार्य शुरू होने का इंतज़ार कर रहे हैं, जो राज्य में आर्थिक विकास को बढ़ावा देगा और साथ ही नौकरियों के अवसर भी उत्पन्न करेगा। हमें विश्वास है कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, न केवल राज्य के लिए बल्कि पूरे देश के लिए डिजिटल, स्थायी एवं आधुनिक एयरपोर्ट का बेंचमार्क बन जाएगा।’’

श्री डेनियर बिरचेर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, ज़्युरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी ने कहा, ‘‘इस शेयरधारक समझौते पर हस्ताक्षर करते हुए हमें बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है, जो इस साझेदारी को मजबूत बनाएगा। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट भारत एवं उत्तर प्रदेश के लिए आर्थिक विकास के इंजन की भूमिका निभाएगा जो कैचमेन्ट क्षेत्र में रिहायशी एवं ओद्यौगिक गतिविधियों तथा एनसीआर में कार्गो एवं लॉजिस्टिक्स क्लस्टर के विकास को प्रोत्साहित करेगा। यह समझौता अन्य विभिन्न सुविधाओं के साथ-साथ रोड एवं रेल कनेटिविटी उपलब्ध कराने की यूपी सरकार की प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है और साथ ही आगामी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए सुरक्षा को भी सुनिश्चित करता है।’’

श्री बिरचेर ने अपनी बात को जारी रखते हुए कहाकि भारत के विकास के लिए प्रतिबद्ध साझेदार है और हमें बुनियादी सुविधाओं के विकास एवं नौकरियों के सृजन के माध्यम से भारत के राष्ट्रीय एजेंडा को सहयोग प्रदान करने तथा निवेश के अपार अवसर दिखाई देते हैं। हमने भारत की विमानन प्रणाली में निवेश किया है और सुगम लॉजिस्टिक्स प्रणाली से युक्त, यात्रियों के अनुकूल, डिजिटल एवं हरित एयरपोर्ट के निर्माण के लिए उत्तरप्रदेश सरकार एवं भारत सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।’’

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट भारत का पहला नेट शून्य उत्सर्जन एयरपोर्ट होगा, इसके मद्देनज़र यूपी सरकार ने यूपी सौर उर्जा नीति 2017 की दिशा में ठोस कदम उठाए हैं। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट स्थायी एवं लागत प्रभावी नव्यकरणीय उर्जा के उपयोग द्वारा हवाई यात्रा को एयरलाईन्स एवं यात्रियों के लिए किफ़ायती बनाने हेतू तत्पर हैं। राज्य सरकार भी नव्यकरणी उर्जा सबंधी उपकरणों की खरीद के लिए वैट/जीएसटी में छूट, क्रॉस-सब्सिडी शुल्क, व्हीलिंग/ संचरण शुल्क तथा ओपन एक्सेस शुुल्क में छूट के द्वारा इसमें योगदान दे रही है। पिछले महीने यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्रा. लिमिटेड को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के विकास के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से रु 3275 करोड़ का अंतिम ऋण अनुमोदन मिला था।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad

DdbfCubDgGi7BKGsMdi2aPk2rf_hNT4Y81ALlqPAsd6iYXCKOZAfj_qFGLoe2k1P.jpg