पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं:जयवीर सिंह - प्रणाम पर्यटन - पहले पढ़ें, फिर घूमें

प्रणाम पर्यटन - पहले पढ़ें, फिर घूमें

जहाँ नज़र ,वहीँ खबर

a

Post Top Ad

गुरुवार, 12 मई 2022

पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं:जयवीर सिंह


भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह. 

---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

सभी प्रश्नों का उत्तर देने वाला प्रदेश है 'उत्तर प्रदेश' : मुकेश मेश्राम 

लखनऊ: 12 मई (प्रणाम पर्यटन ब्यूरो)उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री श्री जयवीर सिंह से आज भारतीय प्रशासनिक सेवा एवं भारतीय विदेश सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों ने शिष्टाचार भेंट कर उनसे विभिन्न विषयों पर मार्गदर्शन प्राप्त किया। इस अवसर पर पर्यटन मंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी के रूप में भारतीय सेवा के प्रशासनिक अधिकारी जिले के ब्राण्ड एम्बेसडर होंगे। उनकी नीति निर्माण से लेकर क्रियान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इसलिए ये अधिकारी देश के भविष्य हैं।

एक स्थानीय होटल में आई0ए0एस0 एवं आई0एफ0एस0 प्रशिक्षु अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए पर्यटन मंत्री ने इन अधिकारियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि देश व विदेश में यू0पी0 की एक आदर्श छवि स्थापित करने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। उन्होंने कहा कि सुसंस्कृत भारत बनाने की जिम्मेदारी उनके कंधों पर है। उन्होंने कहा कि आई0ए0एस0 एवं आई0एफ0एस0 अधिकारियों को ही उ0प्र0 का भविष्य तय करना है। इसलिए ये अधिकारी अपनी लगन और मेहनत से प्रदेश की छवि और बेहतर बनाने का हरसंभव प्रयास करें।

श्री जयवीर सिंह ने कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को अपनी प्रशासनिक सूझ बूझ से कानून व्यवस्था को बनाये रखने के साथ ही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं को जमीन पर उतारकर समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक पहुॅचाने की भी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि विदेश सेवा के अधिकारी भारत की छवि को और बेहतर बनाने की दिशा में काम करना है। इसके साथ ही भारत एवं भारतीयता के मूल्यों को अक्षुण्ण रखते हुए भारत को पुनः विश्व गुरू बनाने की दिशा में आगे बढ़ना है।

पर्यटन मंत्री ने उ0प्र0 में पर्यटन की गतिविधियों पर भी प्रकाश डालते हुए कहा कि प्रशासनिक अधिकारी जनकल्याणकारी योजनाओं को गरीबों तक पहुॅचाकर उनका आशीर्वाद प्राप्त करें, इसके साथ ही प्रदेश सरकार की छवि को उज्ज्वल बनाते हुए गरीबों को न्याय दिलाने का हरसम्भव प्रयास करें। उन्होंने कहा कि उ0प्र0 पर्यटन की दृष्टि से अनन्त संभावनाआंे से भरा हुआ है। इस क्षेत्र में राजस्व अर्जन के साथ ही रोजगार की अपार संभावनायें भी हैं। उन्होंने यह भी कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों को जिले में तैनाती के समय इस सेक्टर को भी और आगे ले जाना है।

श्री जयवीर सिंह ने कहा कि वर्ष 2017 से पहले उ0प्र0 में कानून व्यवस्था के कारण पर्यटन की गतिविधियॉ नहीं थी। प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के प्रयासों एवं वर्ष 2017 में योगी जी के नेतृत्व में प्रदेश की कानून व्यवस्था में व्यापक सुधार आया है। जिसके कारण पर्यटन की गतिविधियों के लिए अच्छा माहौल बना है। पहले उ0प्र0 में जानमाल की असुरक्षा के कारण कोई पर्यटक इधर आना नहीं चाहता था लेकिन बदलते परिवेश में पर्यटकों का विश्वास बढ़ा है, इसके साथ ही पर्यटकों के लिए तमाम सुविधाओं की व्यवस्था की गई है।

पर्यटन मंत्री ने उ0प्र0 की पर्यटक फ्रेन्डली सुविधाओं की जानकारी देते हुए कहा कि पर्यटकों के ठहरने के लिए राही पर्यटक आवासों को पी0पी0पी0 मॉडल पर देकर व्यवस्थित किया जा रहा है। इसके साथ ही सड़क, रेल, वायु, क्रूज तथा हेलीपोर्ट जैसी कनेक्टिविटी की सुविधायंे विकसित की जा रही हैं। उ0प्र0 में प्रकृति प्रदत्त रमणीक स्थल, ऐतिहासिक धरोहरें, धार्मिक स्थल तथा प्राकृतिक संसाधन प्रचुर मात्रा में है जो पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए अनुकूल परिस्थितियॉ मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि यहां पर स्थान-स्थान पर बोली, वेश-भूषा, खान-पान जैसी विविधतायें मौजूद हैं, इसकी ओर देशी-विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने की रणनीति बनाई जा रही है।

श्री जयवीर सिंह ने कहा कि हर जिले में एक गॉव को पारम्परिक कल्चर के हिसाब से विकसित किये जाने पर भी जोर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यहां पर आधुनिकता के साथ अध्यात्म भी है। पश्चिम के लोग भौतिकवाद की जीवनशैली से ऊबकर मथुरा वृन्दावन की तरफ शांति की तलाश में आ रहे हैं। ऐसे पर्यटकों को सुविधायें दिये जाने पर विचार किया जा रहा है।

इसके पूर्व महानिदेशक एवं प्रमुख सचिव पर्यटन श्री मुकेश मेश्राम ने उ0प्र0 मंे पर्यटन के क्षेत्र में संचालित विभिन्न योजनाओं एवं भविष्य की रणनीति को साझा करते हुए कहा कि उ0प्र0 सारे प्रश्नों का उत्तर प्रदान करने वाला प्रदेश है, इसलिए इस उत्तर प्रदेश कहा जाता है। यहां पर प्राकृतिक सौन्दर्य बिखरा पड़ा है। प्रशासनिक अधिकारी जनपद को विश्व के नक्शे पर कैसे स्थापित किया जा सकता है, इस दिशा में अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं। इसके साथ ही भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी भारत की गरिमा एवं जीवन मूल्यों को समेटे हुए भारत की समृद्ध विरासत को विश्व के पटल पर स्थापित करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने वीडियो ब्लागर एवं फूड ब्लागर को प्रोत्साहन दिये जाने की बात कही।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद, संयुक्त निदेशक पर्यटन श्री अविनाश चन्द्र मिश्र, उपनिदेशक पर्यटन सुश्री प्रीति एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad

DdbfCubDgGi7BKGsMdi2aPk2rf_hNT4Y81ALlqPAsd6iYXCKOZAfj_qFGLoe2k1P.jpg