सात साल बाद , तीन दिवसीय एलोरा महोत्सव 25 फरवरी से - प्रणाम पर्यटन - पहले पढ़ें, फिर घूमें

प्रणाम पर्यटन - पहले पढ़ें, फिर घूमें

पत्रिका ही नहीं,दस्तावेज़ भी

a

Post Top Ad

शनिवार, 31 दिसंबर 2022

सात साल बाद , तीन दिवसीय एलोरा महोत्सव 25 फरवरी से

                                                           विजयचौधरी, औरंगाबाद (महाराष्ट्र)। 

  पिछले सात वर्षों से विभिन्न कारणों से स्थगितहो रहे  एलोरा फेस्टिवल इस बार  25 से 27 फरवरी तक होगा । प्रणाम पर्यटन को यहजानकारी देते हुए औरंगाबाद के कलेक्टर आस्तिक कुमार पांडेय ने बताया है कि एलोराफेस्टिवल का आयोजन दो दिन होने जा रहा है, पहले दिन एलोरा गुंफा मे और दुसरे दिन औरंगाबाद के विश्वविद्यालयपरिसर के सोनेरी महल में किया जायेगा. उन्होंने ने बताया कि एलोरा फेस्टिवलऔरंगाबाद शहर के कला और सांस्कृतिक उत्सवों में एक विशेष स्थान रखता है। हालांकि, पिछले कुछ वर्षों में यह एलोराफेस्टिवल आयोजित नहीं हो सका  था। पहले इसे सूखे के कारण रद्द किया गया, फिर कोरोना और अन्य कारणों से। पिछला मेला तत्कालीन संभागायुक्त उमाकांत दांगट के समय आयोजित हुआ था।

   अब चूंकि औरंगाबाद में जी-20 सम्मेलन के लिएविदेशी मेहमान आ रहे हैं, ऐसे में इस दौरान शहर की ब्रांडिंग करने के मकसद से यह भव्य महोत्सवहोने जा रहा है । इसके लिए हम प्रसिद्ध गायक शंकर महादेवन, हरिहरन, महेश काले, राहुलदेशपांडे सहित प्रसिद्ध भरतनाट्यम नृत्यांगना संध्या पुरेचा, बांसुरी वादक पंडित राकेश चौरसिया सहिततबला वादक और तबला वादक आमंत्रित कर रहे हैं ।एलोरा फेस्टिवल की तैयारी के लिएप्रशासन ने कोर कमेटी सहित विभिन्न समितियों का गठन किया है. कोर कमेटी में पुलिसकमिश्नर डा. साथ में नगर पालिका प्रशासक निखिल गुप्ता, जिला परिषद के उप मुख्य कार्यपालनअधिकारी सहित अन्य विभागों के प्रमुख शामिल हैं. इसके साथ ही एक मुख्य समन्वयसमिति भी होगी।इसमेंपर्यटन विभाग के उपनिदेशक को सदस्य  सचिवके रूप में शामिल किया गया है, जबकि कलाकार चयन, आवास एवं परिवहन, वित्त समिति, मंच एवं ध्वनि समिति, सुरक्षा समिति, खानपान समिति, स्वच्छता समिति, चिकित्सा सेवा समिति और बिजली समिति सहित अन्य समितियों का गठन कियागया है।

    तीन दिवसीय इस महोत्सव पर कम से कम 3 से 4 करोड़ रुपये खर्च होने कीउम्मीद है।सरकारकी ओर से इस उत्सव के लिए कोई फंड नहीं दिया जाएगा। इसलिए, प्रशासन सार्वजनिक पंजीकरण और प्रायोजकप्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित करेगा। इसके लिए हर कमेटी अपने स्तर पर प्रयासकरेगी।इसबीच अजंता-वेरुल उत्सव 1994 से देश और विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने और इसकेमाध्यम से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आयोजित किया जाता रहा है, लेकिन पिछले 7 वर्षों से इस उत्सव कोकिसी न किसी कारण से रद्द करना पड़ा है।

    इनकलाकारों को आमंत्रणगायकऔर संगीतकार हरिहरन, शंकरमहादेवन, भरतनाट्यम नर्तक संध्या पुरेचा, बांसुरी वादक पंडित राकेश चौरसिया, तबला वादक विजय घाटे, शास्त्रीय गायक पंडित उपाध्याय, गायक उपाध्याय महेश काले और राहुलदेशपांडे, सितार वादक उस्ताद शुजात खान, ढोल वादक आनंदन शिवमणि, व्यंग्यकार पंडित रवि चारी इन्हेंआमंत्रित करने की योजना प्रशासन और पर्यटन विभाग ने बना ली है। जी-20 शिखर सम्मेलनऔरंगाबाद में हो रहा है। इस अवसर पर शहर में आने वाले विदेशी पर्यटकों के लिएएलोरा फेस्टिवल की योजना बनाई जा रही है। पहले दिन, उत्सव एलोरा  गुफाओं के तल पर आयोजित किया जाएगा। पर्यटक इसप्रतिनिधिमंडल के साथ रात के 12 बजे तक इन नामचीन कलाकारों की कला का लुत्फ उठासकेंगे। एलोरा फेस्टिवल के शेष दो दिन 26 और 27 फरवरी को एक दिन एलोरा गुंफा और दुसरे दिन सोनेरी महल क्षेत्र में आयोजित किए जाएंगे।           

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad

DdbfCubDgGi7BKGsMdi2aPk2rf_hNT4Y81ALlqPAsd6iYXCKOZAfj_qFGLoe2k1P.jpg